Mahatma Gandhi

Mahatma Gandhi / महात्मा गांधी

Mahatma Gandhi Quotes / महात्मा गांधी अनमोल विचार

व्यक्ति अपने विचारों से निर्मित एक प्राणी है, वह जो सोचता है वही बन जाता है.

अपने प्रयोजन में दृढ विश्वास रखने वाला एक सूक्ष्म शरीर इतिहास के रुख को बदल सकता है.

हमेशा अपने विचारों, शब्दों और कर्म के पूर्ण सामंजस्य का लक्ष्य रखें.
हमेशा अपने विचारों को शुद्ध करने का लक्ष्य रखें और सब कुछ ठीक हो जायेगा.

आँख के बदले में आँख पूरे विश्व को अँधा बना देगी.

थोडा सा अभ्यास बहुत सारे उपदेशों से बेहतर है.

खुद वो बदलाव बनिए जो दुनिया में आप देखना चाहते हैं.

विश्वास को हमेशा तर्क से तौलना चाहिए. जब विश्वास अँधा हो जाता है तो मर जाता है.

पहले वो आप पर ध्यान नहीं देंगे, फिर वो आप पर हँसेंगे, फिर वो आप से लड़ेंगे, और तब आप जीत जायेंगे.

जब तक गलती करने की स्वतंत्रता ना हो तब तक स्वतंत्रता का कोई अर्थ नहीं है.

ख़ुशी तब मिलेगी जब आप जो सोचते हैं, जो कहते हैं और जो करते हैं, सामंजस्य में हों.

“Whatever you do will be insignificent. But it is very important that you do it.”

“As human begins, our greatness lies not so much in being able to remake the world-
that is the myth of the atomic age- as in being able to remake ourselves.”

“The future depends on what you do today.”

“The difference between what we do and what we are capable of doing
would suffice to solve most of the world’s problem.”

“The weak can never forgive. Forgiveness is the attribute of strong.”

“The greatness of a nation and its moral progress can be judged by the way its animals are treated.”

“We will become who we are meant to become.” सात घनघोर पाप: काम के बिना धन;अंतरात्मा के बिना सुख;मानवता के बिना विज्ञान;चरित्र के बिना ज्ञान;
सिद्धांत के बिना राजनीति;नैतिकता के बिना व्यापार ;त्याग के बिना पूजा.

भगवान का कोई धर्म नहीं है.

मैं किसी को भी गंदे पाँव अपने मन से नहीं गुजरने दूंगा.

पाप से घृणा करो, पापी से प्रेम करो.

मेरी अनुमति के बिना कोई भी मुझे ठेस नहीं पहुंचा सकता.

प्रार्थना माँगना नहीं है.यह आत्मा की लालसा है. यह हर रोज अपनी कमजोरियों की स्वीकारोक्ति है.
प्रार्थना में बिना वचनों के मन लगाना, वचन होते हुए मन ना लगाने से बेहतर है.

एक कृत्य द्वारा किसी एक दिल को ख़ुशी देना , प्रार्थना में झुके हज़ार सिरों से बेहतर है.

स्वयं को जानने का सर्वश्रेष्ठ तरीका है स्वयं को औरों की सेवा में डुबो देना.
गर्व लक्ष्य को पाने के लिए किये गए प्रयत्न में निहित है, ना कि उसे पाने में.

मैं मरने के लिए तैयार हूँ, पर ऐसी कोई वज़ह नहीं है जिसके लिए मैं मारने को तैयार हूँ.

मैं सभी की समानता में विश्वास रखता हूँ, सिवाय पत्रकारों और फोटोग्राफरों की.

सत्य बिना जन समर्थन के भी खड़ा रहता है.वह आत्मनिर्भर है.

सत्य कभी कभी ऐसे कारण को क्षति नहीं पहुंचता जो उचित हो.

“It is health that is real wealth and not pieces of gold and silver.”

“Be truthful gentle and fearless.”

“We must become the change we want to see.”

“It is my conviction that nothing enduring can be built on violence.”

“There is more to life than simply increasing its speed.” मौन सबसे शाशाक्त भाषण है. धीरे-धीरे दुनिया आपको सुनेगी.

पूर्ण धारणा के साथ बोला गया नहीं सिर्फ दूसरों को खुश करने या समस्या से छुटकारा पाने के लिए बोले गए हाँ से बेहतर है.

विश्व के सभी धर्म, भले ही और चीजों में अंतर रखते हों,
लेकिन सभी इस बात पर एकमत हैं कि दुनिया में कुछ नहीं बस सत्य जीवित रहता है.

कोई त्रुटी तर्क-वितर्क करने से सत्य नहीं बन सकती
और ना ही कोई सत्य इसलिए त्रुटी नहीं बन सकता है क्योंकि कोई उसे देख नहीं रहा.

क्रोध और असहिष्णुता सही समझ के दुश्मन हैं.

पूंजी अपने-आप में बुरी नहीं है, उसके गलत उपयोग में ही बुराई है. किसी ना किसी रूप में पूंजी की आवश्यकता हमेशा रहेगी.

अपनी गलती को स्वीकारना झाड़ू लगाने के सामान है जो सतह को चमकदार और साफ़ कर देती है.

निरंतर विकास जीवन का नियम है , और जो व्यक्ति खुद को सही दिखाने के लिए हमेशा अपनी रूढ़िवादिता को बरकरार
रखने की कोशिश करता है वो खुद को गलत इस्थिति में पंहुचा देता है.

यद्यपि आप अल्पमत में हों , पर सच तो सच है

जो भी चाहे अपनी अंतरात्मा की आवाज़ सुन सकता है. वह सबके भीतर है.

“I will not let anyone walk through my mind with their dirty feet.”

“To believe in something, and not live it, is dishonest.”

“nobody can hurt you without your permission.”

“Our greatness lies not so much in being able to remake the world but being able to remake ourselves.” मेरा धर्म सत्य और अहिंसा पर आधारित है. सत्य मेरा भगवान है.अहिंसा उसे पाने का साधन.

मेरा जीवन मेरा सन्देश है.

जहाँ प्रेम है वहां जीवन है.

ऐसे जियो जैसे कि तुम कल मरने वाले हो. ऐसे सीखो की तुम हमेशा के लिए जीने वाले हो.

जब मैं निराश होता हूँ , मैं याद कर लेता हूँ कि समस्त इतिहास के दौरान सत्य और प्रेम के मार्ग की ही हमेशा विजय होती है.
कितने ही तानाशाह और हत्यारे हुए हैं, और कुछ समय के लिए वो अजेय लग सकते हैं, लेकिन अंत में उनका पतन होता है. इसके बारे में सोचो- हमेशा.

आपकी मान्यताएं आपके विचार बन जाते हैं,आपके विचार आपके शब्द बन जाते हैं,आपके शब्द आपके कार्य बन जाते हैं,
आपके कार्य आपकी आदत बन जाते हैं,आपकी आदतें आपके मूल्य बन जाते हैं, आपके मूल्य आपकी नीयति बन जाती है.

आप आज जो करते हैं उसपर भविष्य निर्भर करता है.

“What we are doing to the forests of the world is but a mirror refection
of what we are doing to ourselves and to one another.” अपने ज्ञान के प्रति ज़रुरत से अधिक यकीन करना मूर्खता है. यह याद दिलाना ठीक होगा कि
सबसे मजबूत कमजोर हो सकता है और सबसे बुद्धिमान गलती कर सकता है.

जब भी आपका सामना किसी विरोधी से हो. उसे प्रेम से जीतें.

मैं हिंसा का विरोध करता हूँ क्योंकि जब ऐसा लगता है कि वो अच्छा कर रही है तब वो अच्छाई अस्थायी होती है;
और वो जो बुराई करती है वो स्थायी होती है.

आप मुझे जंजीरों में जकड़ सकते हैं, यातना दे सकते हैं, यहाँ तक की आप इस शरीर को नष्ट कर सकते हैं,
लेकिन आप कभी मेरे विचारों को कैद नहीं कर सकते.

हो सकता है आप कभी ना जान सकें कि आपके काम का क्या परिणाम हुआ,
लेकिन यदि आप कुछ करेंगे नहीं तो कोई परिणाम नहीं होगा.

प्रेम दुनिया की सबसे बड़ी शक्ति है और फिर भी हम जिसकी कल्पना कर सकते हैं उसमे सबसे नम्र है.

जीवन की गति बढाने के अलावा भी इसमें बहुत कुछ है.

आप तब तक यह नहीं समझ पाते की आपके लिए कौन महत्त्वपूर्ण है जब तक आप उन्हें वास्तव में खो नहीं देते.
चिंता से अधिक कुछ और शरीर को इतना बर्बाद नहीं करता, और वह जिसे ईश्वर में थोडा भी यकीन है
उसे किसी भी चीज के बारे में चिंता करने पर शर्मिंदा होना चाहिए.

मैं तुम्हे शांति का प्रस्ताव देता हूँ. मैं तुम्हे प्रेम का प्रस्ताव देता हूँ. मैं तुम्हारी सुन्दरता देखता हूँ.
मैं तुम्हारी आवश्यकता सुनता हूँ.मैं तुम्हारी भावना महसूस करता हूँ.

आदमी अक्सर वो बन जाता है जो वो होने में यकीन करता है. अगर मैं खुद से यह कहता रहूँ कि मैं फ़लां चीज नहीं कर सकता,
तो यह संभव है कि मैं शायद सचमुच वो करने में असमर्थ हो जाऊं. इसके विपरीत, अगर मैं यह यकीन करूँ कि
मैं ये कर सकता हूँ ,तो मैं निश्चित रूप से उसे करने की क्षमता पा लूँगा, भले ही शुरू में मेरे पास वो क्षमता ना रही हो.

चलिए सुबह का पहला काम ये करें कि इस दिन के लिए संकल्प करें कि- मैं दुनिया में किसी से डरूंगा नहीं.-मैं केवल भगवान से डरूं.-मैं किसी के प्रति बुरा भाव ना रखूं.-मैं किसी के अन्याय के के समक्ष झुकूं नहीं.-
मैं असत्य को सत्य से जीतुं. और असत्य का विरोध करते हुए, मैं सभी कष्टों को सह सकूँ. आप मानवता में विश्वास मत खोइए. मानवता सागर की तरह है;
अगर सागर की कुछ बूँदें गन्दी हैं, तो सागर गन्दा नहीं हो जाता.

एक देश की महानता और नैतिक प्रगति को इस बात से आँका जा सकता है कि वहां जानवरों से कैसे व्यवहार किया जाता है.

हर रात, जब मैं सोने जाता हूँ, मैं मर जाता हूँ. और अगली सुबह , जब मैं उठता हूँ, मेरा पुनर्जन्म होता है.

तुम जो भी करोगे वो नगण्य होगा, लेकिन यह ज़रूरी है कि तुम वो करो.

मृत,अनाथ, और बेघर को इससे क्या फर्क पड़ता है कि यह तबाही सर्वाधिकार
या फिर स्वतंत्रता या लोकतंत्र के पवित्र नाम पर लायी जाती है?

किसी चीज में यकीन करना और उसे ना जीना बेईमानी है. दुनिया में ऐसे लोग हैं जो इतने भूखे हैं कि भगवान उन्हें किसी और रूप में नहीं दिख सकता सिवाय रोटी के रूप में.

पृथ्वी सभी मनुष्यों की ज़रुरत पूरी करने के लिए पर्याप्त संसाधन प्रदान करती है , लेकिन लालच पूरी करने के लिए नहीं.

हम जो दुनिया के जंगलों के साथ कर रहे हैं वो कुछ और नहीं बस उस चीज का प्रतिबिम्ब है
जो हम अपने साथ और एक दूसरे के साथ कर रहे हैं.

सत्य एक है, मार्ग कई.

कुछ करने में , या तो उसे प्रेम से करें या उसे कभी करें ही नहीं.

शांति का कोई रास्ता नहीं है, केवल शांति है.

जिस दिन प्रेम की शक्ति , शक्ति के प्रति प्रेम पर हावी हो जायेगी , दुनिया में अमन आ जायेगा .